IT Consultant का क्या काम होता है ? भूमिका, योग्यता व अनुभव

IT Consultant

इस पेज पर IT Consultant का क्या काम होता है की समस्त जानकारी पढ़ने वाले है।

इसलिए इस पेज के अंत तक बनें रहें।

इससे पहले हमने HR का क्या काम होता है जानकारी शेयर की थी,लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते है।

यदि आपने एक फ्रीलांस आईटी कंसल्टेंट के रूप में काम करने के बारे में सोचा है, तो इस विकल्प पर गौर करने का अभी सबसे अच्छा समय हो सकता है।

बड़े व्यवसाय अक्सर अलग -अलग प्रोजेक्ट्स को पूरा करने के लिए आईटी सलाहकारों को नियुक्त करते हैं।

आईटी कंसल्टेंट सबसे अधिक डिमांड वाले कंसल्टेंट पोजिशन में से एक है। अपना कंसल्टेशन बिजनेस शुरू करने से पहले, निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें:

आईटी कंसल्टेंट की भूमिका क्या है?

एक आईटी कंसल्टेंट छोटे स्केल के नेटवर्क मैनेजमेंट से लेकर बड़े स्केल पर सिस्टम मेंटेनेंस तक कुछ भी मैनेज कर सकता है।

IT Consultant को तीन ग्रुप में बांटा जा सकता है :

  1. प्रोजेक्ट एडमिनिस्ट्रेशन
  2. मेंटेनेंस एंड रिपेयरिंग
  3. सिक्योरिटी

आईटी में एक कंसल्टेंट बनने के लिए किन योग्यताओं की आवश्यकता होती है?

कंप्यूटर साइंस, इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग या इससे संबंधित क्षेत्र में ग्रेजुएशन की डिग्री आमतौर पर आईटी कंसल्टेंट के लिए आवश्यक होती है।

हालाँकि, कई आईटी प्रोफेशनल स्पेशल सर्टिफिकेशन और ट्रैनिंग भी लेते हैं ।

प्रोग्रामिंग, डेटाबेस और नेटवर्किंग की बेसिक नॉलेज एक IT कंसल्टेंट के लिए बहुत जरूरी होती है।

एक IT Consultant के रूप में आपको नई तकनीक के साथ अपडेटेड रहना पड़ता है तभी आप अपने क्लाइंट्स की मदद कर पाएंगे ।

आपके ज्ञान को बढ़ाने के लिए इस फील्ड से जुड़ी वेबसाइट्स और किताबें महत्वपूर्ण स्रोत हो सकते हैं।

आईटी रिलेटेड कांफ्रेंस आपके क्षेत्र में आगे रहने, नई चीजें सीखने, समान सोच वाले लोगों के साथ नेटवर्किंग करने और अपने ग्राहकों का विस्तार करने के लिए एक बहुत अच्छा साधन भी हो सकता है।

आईटी फील्ड में एक्सपीरियंस प्राप्त करना

इस फील्ड में काम करने के लिए नॉलेज के साथ ही अनुभव आवश्यक है।

खुद का काम शुरू करने से पहले किसी कंपनी या एक्सपीरियंस वाले प्रोफेशनल के अंदर 2 से 5 साल काम करना आपको और अधिक कुशल बना सकता है ।

आपको फील्ड की नॉलेज देने के अलावा, यह आपको बिजनेस में कॉन्टेंक्ट बनाने में मदद करेगा। इसके अलावा आपके कस्टमर्स को भी यह पता लगेगा की आपके पास उनकी प्रोब्लम को सॉल्व करने के लिए जरूरी अनुभव है ।

सर्टिफाइड होना ग्राहकों को दर्शाता है कि आप उस क्षेत्र के विशेषज्ञ हैं।

आप Microsoft Office user expert या Apple Certified Support Professional जैसे सर्टिफिकेट ले कर आपकी फील्ड की नौकरियों के लिए कंपीट करने वाले अन्य IT सलाहकारों से अलग दिख सकते हैं।

एक व्यवसाय का निर्माण

अगर आप एक IT कंसल्टेंट बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आपको अपनी विशेषज्ञता के अलावा कुछ और भी चीजों की जानकारी होनी चाहिए ।

अगर आप पहले किसी फुल टाइम जॉब में थे तो आपके पास ऑफिस मैनेजमेंट जैसी स्किल जरूर होगी। जब तक आप अधिक कर्मचारियों को नियुक्त नहीं करते हैं, तब तक आईटी सलाहकार के रूप में एक कंपनी को चलाने से जुड़ी सारी रिस्पॉन्सिबिलिटीज आपके ऊपर होती हैं।

आईटी कंसल्टेंट बनने के लिए आप किस तरह का बिजनेस कर सकते हैं :

वन पर्सन कंपनी, एलएलपी या प्राइवेट लिमिटेड इन तीनों में से आप किसी भी कैटेगरी में अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं ।

बिजनेस शुरू करने के बाद आपको इनकम टैक्स, कंप्लायंस आदि का भी ध्यान रखना पड़ेगा ।

IT Consultant के रूप में अपने बिजनेस को कैसे बढ़ाएं

एक बार जब बिजनेस के बेसिक कंपोनेंट्स बन जाते हैं और आप अपनी योजना के अनुसार काम कर रहे होते हैं, तो आपको अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए नए कस्टमर्स को ढूंढना होगा ।

आप इसके लिए अपना पोर्टफोलियो बना सकते हैं और उसे रेगुलरली अपडेट कर सकते हैं । आप खुद को कुछ वेबसाइट्स पर भी लिस्ट कर सकते हैं ।

इन वेबसाइटों पर, आईटी कंसलटेंट को ढूंढने वाले कुछ ग्राहक आपको ढूंढ सकते हैं । आपको इसके लिए खुद भी एफर्ट्स देने होंगे । आप जॉब पोस्टिंग वेबसाइट्स पर IT कंसल्टेंट की वेकेंसीज ढूंढ सकते हैं और उन्हें एक फ्रीलांसर के रूप में अप्रोच कर सकते हैं ।

यदि आप अपने नेटवर्क और इंडस्ट्री के लोगो के कॉन्टैक्ट में रहते हैं तो इससे मदद मिलेगी।

वे स्वतंत्र आईटी कंसल्टेंट की तलाश कर रहे छोटे और बड़े बिजनेस के बारे में जानकारी दे सकते हैं।

एक IT Consultant का काम क्या है?

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर, डेटाबेस सिस्टम और नेटवर्क हार्डवेयर में स्पेशलिस्ट एक एक्सपीरियंस वाले व्यक्ति जो की दूसरो को IT रिलेटेड मदद देता है उसे IT कंसल्टेंट कहा जाता है ।

IT कंसल्टेंट इंडिविजुअल्स और बिजनेस को सपोर्ट, ट्रेनिंग और कंसल्टेशन प्रदान करते हैं। बिजनेस को टीम को प्रोडक्टिविटी बढ़ाने, हाई प्रोडक्शन स्केल के लिए नए सिस्टम बनाने आईटी से जुड़ी परेशानियों पर सलाह प्राप्त करने के लिए आईटी कंसल्टेंट की सहायता की आवश्यकता होती है।

नेटवर्क एनालिस्ट, आईटी प्रोजेक्ट मैनेजर, सिस्टम इंजीनियर, प्रोग्रामर और टेक्नोलॉजी कंसल्टेंट आदि आईटी कंसल्टेंट के लिए कुछ जॉब टाइटल हैं।

एक आईटी कंसल्टेंट एक विशेषज्ञ है जो ग्राहकों को अपनी कंपनी के goals को पूरा करने के लिए इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करने के लिए प्रोफेशनल गाइडेंस प्रदान करता है।

इसके अतिरिक्त, IT Consultant नए तकनीकी सॉल्यूशन भी पेश करते हैं या पहले से मौजूद इनफॉर्मेशन अपने क्लाइंट्स को देते हैं ।  वे किसी बिजनेस के स्टॉफ को सिखा सकते हैं कि IT रिलेटेड प्रोब्लम को कैसे हैंडल करना है।

एक आईटी कंसल्टेंट इन सबके अलावा निम्नलिखित के लिए भी जिम्मेदार हो सकता है:

  • किसी आर्गेनाइजेशन के कंप्यूटर सिस्टम की निगरानी करना
  • सॉल्यूशन ढूंढने के लिए सॉफ्टवेयर डेवलपर्स के साथ सहयोग करना
  • यह पता लगाना कि कंपनी के कंप्यूटर को और अधिक कुशलता से कैसे चलाना है

बड़े और छोटे दोनों बिजनेस में अपने बिजनेस, कम्यूनिकेशन और कंप्यूटर स्किल्स को डेवलप करके आप इस करियर के लिए प्रशिक्षण ले सकते हैं।

इन्हे भी पढ़ें :

अंतिम शब्द :

आज के समय में इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी से जुड़े रहना हर व्यक्ति और बिजनेस के लिए जरूरी हो गया है।

लेकिन इसका यूज करना सबका लिए आसान नहीं होता है अभी IT कंसल्टेंट की डिमांड काफी ज्यादा है, आप इस फील्ड की अच्छी जानकारी ले कर इसमें काफी आगे बढ़ सकते हैं और अपना करियर बना सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top