हॉस्पिटल मे वार्ड बॉय का क्या काम होता है, सैलरी, योग्यता, शिक्षा, क्वालिटी

हॉस्पिटल मे वार्ड बॉय

आज के इस आर्टिकल में हम हॉस्पिटल मे वार्ड बॉय का क्या काम होता है की जानकारी पढ़ने वाले हैं यदि आप वार्ड बॉय की जानकारी जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़िए।

हॉस्पिटल मे वार्ड बॉय कैसे बनें ?

अस्पतालों और अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं में वार्ड बॉय मेडिकल प्रोफेशनल्स, हॉस्पिटल में काम करने वाले लोगों और मरीजों को हाउसकीपिंग, फूड जैसे नॉन मेडिकल सर्विस में मदद करते हैं ।

वार्ड बॉय बनने के लिए जरूरी क्वालिटीज

अगर आप वार्ड बॉय बनने के इच्छुक हैं तो मानसिक क्षमता के साथ ही आपके अंदर शारीरिक शक्ति भी होनी चाहिए ।

  • बड़ी वस्तुओं को उठाने में सक्षम
  • केयरिंग और मोटिवेटिंग व्यवहार
  • दूसरों का सम्मान
  • हाउसकीपिंग से जुड़ी जिम्मेदारियों को प्रभावी ढंग से पूरा करने की क्षमता
  • मजबूत कम्युनिकेशन क्षमता
  • निर्देशों का पालन करने और एक टीम में अच्छी तरह से काम करने की क्षमता

हॉस्पिटल में वार्ड बॉय बनने के लिए प्रशिक्षण और शिक्षा

  • वार्ड बॉय की नौकरियों के लिए औपचारिक शिक्षा की आवश्यकता नहीं होती है। ऑन-द-जॉब अनौपचारिक प्रशिक्षण एक ऐसी चीज है जिससे आप काफी चीज सिख सकते हैं।
  • यदि आपके पास क्षमता है, तो आपके इस क्षेत्र में नौकरी पाने की संभावना बढ़ जाती है।
  • आप वार्ड बॉय के रूप में काम करने के लिए एक इंटर्नशिप भी कर सकते हैं। अच्छे एंप्लॉयर्स आम तौर पर वर्ष 10 के एक्सपीरियंस की मांग करते हैं, हालांकि फ्रेशर्स के लिए भी बहुत से ऑपर्च्युनिटीज होती हैं ।

वार्ड बॉय के कार्य और दायित्व

  • मरीजों के लिए साफ बिस्तर और कपड़ों की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करना और यह देखना कि गंदी वस्तुओं को बाहर निकालकर साफ किया जाए।
  • नॉन मेडिकल सप्लाई और लिनन की सप्लाई  पूरी रखने में मदद करना
  • व्हीलचेयर या पोर्टेबल बेड पर मरीजों को उठने, बैठने और ले जाने में मदद करना
  • बाथरूम, शावर, ऑफिस आदि को साफ रखना ।
  • मरीजों को सही समय पर खाना देना
  • डिस्चार्ज के लिए तैयार मरीजों को अपने साथ वेटिंग एरिया में ले जाना ।
  • मृत मरीजों को वार्डों से मुर्दाघर में ले जाना
  • इमरजेंसी में मरीजों को कंट्रोल करना और उन्हें सेफ रखना ।

Ward Boy के रूप में काम करने वाले लोग रोटेशनल शिफ्ट में काम करते हैं वे दिन का अधिकांश समय मरीजों और वार्ड की देखभाल में बिताते हैं।

वार्ड बॉय की नौकरी आपको गवर्नमेंट और प्राइवेट हॉस्पिटल, क्लिनिक, नर्सिंग होम आदि जगहों पर मिल सकते है ।

कुछ वार्ड बॉय ऑपरेशन थिएटर में थिएटर अटेंडेंट के रूप में भी काम करते हैं ।

एक थिएटर अटेंडेंट ऑपरेशन में काम आने वाले उपकरण को स्टरलाइज़ करता है और यह सुनिश्चित करता है कि ऑपरेशन थिएटर की मशीन और लाइट सही तरीके से काम कर रहे हैं। वे मरीजों को ऑपरेशन रूम में लाने और ले जाने में मदद करते हैं और ऑपरेशन के दौरान छोटे कार्यों में मदद कर सकते हैं।

वार्ड बॉय की सैलरी कितनी होती है ?

यदि आप वार्ड बॉय के रूप में करियर बनाने पर विचार कर रहे हैं तो आपकी सैलरी के बारे में जानना आपके लिए बहुत जरूरी है ।

वार्ड बॉय की एवरेज सैलरी 1.1 लाख सालाना तक होती है। किसी व्यक्ति के अनुभव और क्षमताओं के आधार पर यह बदल सकता है। आमतौर पर एक्सपीरियंस वाले लोगों की सैलरी इससे बहुत ज्यादा होती है ।

Ward Boy बनने के लिए जरूरी पढ़ाई और योग्यता :

वार्ड बॉय बनने के लिए किसी औपचारिक शिक्षा की जरूरत नहीं होती फिर भी हाई स्कूल तक की पढ़ाई करने से आपको नौकरी मिलना काफी आसान हो जाता है।  ज्यादातर वार्ड बॉयज को ऑन-द-जॉब प्रशिक्षण दिया जाता हैं। एक वार्ड बॉय को बेसिक first-aid, लाइफ सपोर्ट, CPR आदि भी सिखाया जाता है ।

शारीरिक शक्ति

अपनी शिफ्ट के दौरान, वार्ड बॉय को लंबे समय तक खड़े रह के काम करना होता है । उन्हें बिस्तर बनाना, कमरों की सफाई करना, और मरीजों को बिस्तरों से स्ट्रेचर पर ले जाना आदि उनकी शारीरिक मेहनत वाले काम हैं।   हालांकि एक वार्ड बॉय का मुख्य रूप से  काम रोगियों की सहायता करना होता है लेकिन वे अन्य ऑफिशियल काम भी कर सकते हैं।

वर्क एफिशिएंसी

एक वार्ड बॉय को अपना काम परफेक्शन से करना होता है क्योंकि उनके काम में काफी रिस्क हो सकता है। वे सप्लाई चेन पर काम कर सकते हैं, हॉस्पिटल के अलग अलग डिपार्टमेंट के बीच मैसेज या सैंपल्स ले जा सकते हैं और ऑपरेशन थिएटर में भी काम कर सकते हैं।  इन सभी कामों के लिए शारीरिक फिटनेस आवश्यक है।

स्ट्रेस मैनेजमेंट

वार्ड बॉय एक साथ कई रोगियों की सेवा कर सकते हैं। उन्हें प्रत्येक रोगी की देखरेख करनी पड़ सकती है और उनके स्वास्थ्य में किसी भी बदलाव पर नज़र रखनी पड़ सकती है। वार्ड बॉय को मरीजों की बॉडी से निकलने वाले fluid और वेस्ट के संपर्क में आना पड़ता है जो काफी खतरनाक हो सकता है । इन सब कामों से काफी स्ट्रेस हो सकता है अतः वार्ड बॉय को स्ट्रेस मैनेज करना आना चाहिए ।

पर्सनल क्वालिटीज :

वार्ड बॉय अलग अलग प्रकार के व्यक्तियों से बातचीत करते हैं ।  यदि वे शांत आचरण बनाए रखते हैं तो वे रोगियों और उनके परिवारों के साथ प्रभावी ढंग से कम्युनिकेट कर सकते हैं। अपने सीनियर्स और अस्पताल के अन्य कर्मचारियों के साथ बातचीत करते समय शांत व्यवहार रखने से उन्हें लाभ होता है।

आर्गेनाइजेशनल क्वालिटी

चूंकि एक वार्ड बॉय किसी हॉस्पिटल अथवा नर्सिंग होम में ही काम करता है, उसे सबके साथ मिल कर एक ऑर्गेनाइजेशन के रूप में काम करना आना चाहिए ।   संगठित होने से मेडिकल प्रोफेशनल (डॉक्टर्स), ऑफिस वर्कर्स, रोगियों और उनके परिवारों के साथ सहयोग करते हुए अपना काम सही तरीके से करना भी आसान हो जाता है।

सिंपैथी (सहानुभूति

बीमार, घायल, या गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं वाले मरीजों को मैनेज करना अस्पतालों में काम करने का एक हिस्सा है।

अस्पताल में काम करने की लिए आपका मरीजों से सहानुभूति रखना बहुत जरूरी होता है। मरीजों से सहानुभूति दिखाना आपको उनसे कनेक्ट कर सकता है और इस तरह आप उनका ध्यान ज्यादा अच्छे तरीके से रख सकते है ।

इससे उनके लिए हाई स्टैंडर्ड वाली देखभाल प्रदान करना और मरीजों के कंफर्ट को बढ़ाना काफी आसान हो जाता है । वार्ड बॉय सहानुभूतिपूर्ण, दयालु और दूसरों की मदद करने के लिए उत्सुक होकर कमजोर और क्रिटिकल रोगियों को मैनेज कर सकते हैं।

हॉस्पिटल मे वार्ड बॉय के रूप में नौकरी कैसे पाएं : 

  1. खुद से पूछें कि क्या आप सच में यह काम करना चाहते हैं :

एक अस्पताल में आप करने के लिए डेडीकेशन और बीमार या घायल लोगों की सहायता करने की इच्छा की आवश्यकता होती है। आप यह तय कर सकते हैं कि यह आपके लिए सही करियर है या नहीं, खुद का मूल्यांकन करना बहुत जरूरी है।

अधिकांश अस्पताल में आपको दूसरों की मदद करने, कठिन परिस्थितियों को संभालने और दबाव में भी शांत बने रहने की आवश्यकता होती है । वार्ड बॉय आपके लिए सही करियर ऑप्शन है या नहीं यह तय करने के लिए आप खुद भी रिसर्च करें , इसके साथ ही आप इस क्षेत्र में काम करने वाले लोगों से बात कर के यह जान सकते हैं कि आप इस करियर में आगे बढ़ना  चाहते हैं या नहीं ।

  1. हाई स्कूल तक की पढ़ाई जरूर पूरी करें :

हालांकि वार्ड बॉय बनने के लिए बहुत ज्यादा पढ़ाई की जरूरत नहीं होती फिर भी आपको हाई स्कूल तक की पढ़ाई तो कर ही लेनी चाहिए । ऐसा करने से आपको काम करने में बहुत मदद मिलेगी, आपके लिए नौकरी पाना आसान हो जाएगा और आप मेडिकल संबंधी चीजों को बेहतर तरीके से समझ पाएंगे ।

  1. अगर आपको लाइसेंस या सर्टिफिकेट की जरूरत है तो वह जरूर लें :

कुछ हॉस्पिटल की मांग होती है कि आवेदक प्राथमिक चिकित्सा, सीपीआर आदि का उपयोग करने के लिए सर्टिफिकेशन एग्जाम पास करें। ये कोर्स आमतौर पर तीन से चार घंटे के होते हैं।

आप एक सर्टिफिकेशन प्रोग्राम में एनरोल कर सकते हैं और जॉब के लिए अप्लाई करते समय अपना सर्टिफिकेट दिखा सकते हैं ।

  1. ऑन-द-जॉब प्रशिक्षण

फ्रेशर्स के लिए आमतौर पर एक महीने की प्रशिक्षण अवधि की आवश्यकता होती है। अस्पताल के वरिष्ठ वार्ड बॉय और नर्स सेफ पेशेंट मैनेजमेंट के तरीके, हॉस्पिटल सेफ्टी और मरीजों की देखभाल पर नए कर्मचारियों को गाइड करते हैं। वार्ड बॉय अपने प्रशिक्षण के समय स्वास्थ्य संबंधी विषयों जैसे वर्कप्लेस सेफ्टी, फूड सेफ्टी और एनवायरनमेंट हेल्थ आदि पर होने वाले सेमिनार में भाग ले सकते हैं।

वार्ड बॉय के रूप में जॉब पाने के कुछ स्टेप्स :

  • अपने बायोडाटा को जॉब पोर्टल पर अपडेटेड रखें।
  • अपने आसपास के हॉस्पिटल, क्लिनिक आदि में खाली पदों की जानकारी लेते रहें ।
  • गवर्नमेंट वेकेंसी पर नजर रखें ।
  • आप भरोसेमंद job कंसल्टेंट की मदद ले सकते हैं .

इन्हे भी पढ़ें :

कंक्लूज़न

हॉस्पिटल मे वार्ड बॉय की नौकरी काफी जिम्मेदारी वाला होता है और यह कमज़ोर दिल वाले लोगो के लिए मुश्किल हो सकता है । अस्पताल में वार्ड बॉय बनने के लिए कोई औपचारिक आवश्यकता नहीं है, बारहवीं तक की शिक्षा, एक्सपीरियंस और स्किल होने से आपके नौकरी पाने की संभावना बढ़ जाएगी। अगर आप यह जॉब करना चाहते हैं आपको इस जॉब से जुड़े चैलेंजेस के लिए तैयार रहना चाहिए ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top